Samay Ka SadUpyog Kaise Kare ?

 समय का सदुपयोग कैसे करें ? : भगवान ने भले ही किसी को गोरा बनाया हो या काला बनाया हो, छोटा बनाया हो या बड़ा बनाया हो, स्वस्थ बनाया हो या विकलांग बनाया हो लेकिन समय सबके लिए समान है। यदि आपके लिए 1 दिन में 24 घंटे हैं तो दूसरों के लिए भी उतना ही समय है। कुछ लोग इसी टाइम में सफलता प्राप्त कर लेते हैं तो कुछ लोग यह कह कर अपनी असफलता का बहाना बनाते हैं कि उन्हें समय ही नहीं मिला या उनकी किस्मत अच्छी नहीं थी। 


 

 समय का सदुपयोग कैसे करें ?

जैसे किसी खिलाड़ी के लिए जल्द से जल्द खेल को समाप्त करना जरूरी होता है ठीक उसी तरह आपको भी अपने जीवन में अपने काम को जल्द से जल्द समाप्त करने की आदत डालनी चाहिए। आप समय का सही से उपयोग करके ही जीवन में सफल हो सकते हैं। अगर आपने समय का दुरुपयोग किया तो फिर आप हमेशा असफलता का मुँह ही देखेंगे। इस आर्टिकल में हम आपको समय के सही से उपयोग करने के तरीकों के बारे में बताने जा रहे हैं। इन तरीकों को अपनाकर आप अपने जीवन में सफल हो सकते हैं।

# 1 - सीमित समय

किसी भी काम को करने के लिए समय की सीमा का निर्धारण करना बहुत ही जरूरी होता है। यदि आप अपने जीवन में कोई भी काम करने जा रहे हैं तो यह निर्धारित कर लीजिए कि उस काम को आप कितनी देर में समाप्त कर लेंगे। समय सीमा निर्धारण करने से आपको फायदा यह होगा कि आपको यह एहसास होता रहेगा कि इस काम को कितने समय में समाप्त करना है।

जैसे किसी क्रिकेट खिलाड़ी को या पता होता है कि उसे सीमित ओवर में खेल को अच्छी तरह से खेलना है और जीत हासिल करना है। यदि आपके पास काम को समाप्त करने की सीमा नहीं रहेगी तो उस काम में ढिलाई बरतेंगे और व्यर्थ समय बर्बाद करेंगे।

# 2 - रचनात्मक सोच का महत्व

आज के समय में हर इंसान को यही लगता है कि उसके पास अधिक समय बचा है जबकि असल में ऐसा नहीं होता है। समय दिन प्रतिदिन बीतता जाता है यह किसी के लिए नहीं रुकता है। इसीलिए आप प्रतिदिन यह सोचे कि आपने अब तक क्या किया है। प्रतिदिन सोने से पहले आप खुद से यह सवाल करें कि आपने आज दिन भर में ऐसा क्या काम किया है जिससे आपके जीवन में सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। यदि आपने इसका जवाब खोज लिया तो आप निश्चित ही समय की कीमत को जानेंगे।

जो समय बीत जाता है वह कभी लौटकर नहीं आता है इसीलिए एक-एक क्षण का सही से उपयोग करें और ऐसे काम करें जिससे आप सफलता की ओर अग्रसर हो सकें। आप किसी भी काम को शुरू करने से पहले यह कभी ना सोचे कि आप इसमें फेल हो जाएंगे। अगर आप किसी काम में फेल भी हो गए तो इससे आपका जीवन समाप्त नहीं हो जाएगा।

# 3 - महत्वपूर्ण सोच का महत्व

आपको हमेशा यह सोचना होगा कि आपके पास समय बहुत कम है। इस कम समय में आपको वह काम करने होंगे जिसमें समाज में आपकी इज्जत और आपके परिवार की इज्जत में इजाफा हो। यदि आप यह सोचने लगेंगे कि अभी आपके पास काम करने के लिए बहुत अधिक समय है तो हो सकता है कि कल का दिन आपके लिए आखरी भी हो।

 मृत्यु कब आ जाए या कोई नहीं जानता है इसीलिए प्रतिदिन आप ऐसे काम करो जैसे कि वह आप का आखरी दिन है। आखरी दिन से पहले आप अपने परिवार के लिए और अपने समाज के लिए अपनी ऐसी छाप छोड़ कर जाएं जिससे मरने के बाद भी लोग आपको याद करें।

# 4 - रोजमर्रा की जिंदगी में सोच का महत्व

हम सभी एक ना एक दिन इस दुनिया को छोड़कर चले जाएंगे। इसलिए हम सभी के पास एक सीमित समय है और उस सीमित समय में हमें ऐसे काम करने होते हैं जिससे समाज में आपकी एक अलग पहचान बन सके। आपको बिना किसी डर के और पूरे जोश के साथ अपने लक्ष्य को हासिल करना होगा।

 यदि आपने अपने समय का सही उपयोग नहीं किया तो आप को पछतावा के सिवा कुछ और हाथ नहीं लगेगा। यदि आप अपने जवानी के दिनों में कुछ अच्छा काम नहीं कर पाएंगे तो बुढ़ापे में आप जरूर पछताएंगे। फिर वही कहावत सार्थक होगी कि अब पछताए होत क्या जब चिड़िया चुग गई खेत। यह कहावत समय का दुरुपयोग करने वाले लोगों के लिए सार्थक साबित होती है।

निष्कर्ष

जैसा कि हमने ऊपर के बिंदुओं में जिक्र किया कि सब के पास सीमित समय होता है जो व्यक्ति कुछ सीमित समय में अच्छा काम कर पाता है वही व्यक्ति आगे चलकर अपना नाम रोशन कर पाता है। यदि आपने समय का सही से उपयोग किया है तो आपको आगे चलकर पछताना नहीं पड़ेगा।

लेकिन यदि आपने काम करने के दिनों में मस्ती की है तो आपको आगे चलकर जरूर पछताना पड़ेगा। समय सबके लिए समान है, सबके लिए एक दिन में 24 घंटे ही होते हैं लेकिन कुछ लोग उसी समय को सही तरीके से उपयोग कर लेते हैं और कुछ लोग सिर्फ बहानेबाजी करते रहते हैं।

 

 

 

टिप्पणी पोस्ट करें (0)
नया पेज पुराने