Hello दोस्तों आज हम आपको 4 Best Hindi Short Stories With Moral For Kids के बारे में बताएंगे जिसे आपको पड़ने में काफ़ी आनंद मिलेगा तो आप इनके टाइटल  के हिसाब से इनको पड़े ताकि आपको और भी ज्यादा आनंद आएगा !

Hindi Short Stories With Moral For Kids

Hindi Short Stories With Moral For Kids



दोस्तों इस समय में हमें इन 2 बातो का वशेष ध्यान रखना है जो आपको हर Stories With Moral For Kids  में देखने को मिलेगी वो बाते यह है की 


इंसान को बुराई और अच्छाई दोनों बाते कुछ ना कुछ सीखा कर जाती है बस फर्क इतना है 


पहली बात की आप समय के साथ नहीं बदलते तो समय आपको बदल देता है बस आप खुद समय के साथ बदलोगे तो अच्छा है वरना समय आपको बदलेगा तो बहुत तकलीफ होंगी इसलिए संघर्ष से घबराना नहीं संघर्ष का सामना करना !


दूसरी बात यह भी देखना की गुरु और ढोकर में क्या अंतर है में कहु की सिर्फ इतना अंतर है की गुरु करने से पहले सिखाता है और डोकर खाने के बाद सीखता है 


इन दो बातो को धयान में रखना आपका जीवन बहुत आसान होगा !



1. तेज दोड़ भी पीछे रह जाये जो घमंड करे वो पछताए 


यह कहानी है एक मेंढक और एक खरगोश की इसलिए बच्चों ( kids ) से निवेदन है की यह नैतिक ( Moral ) कहानी ( Stories ) को जरूर पड़े !


एक बार की बात है की एक मेडक और चूहें के बिच में किसी बात को लेकर यह बात हुवी की आज देखते है की तेज कौन दौड़ता है 


उसी समय खरगोश बोला हस कर की यह भी कोई पूछने वाली बात है बिलकुल में दौड़ता हूँ 


तभी मेंढक ने कहा की डीक है इस बात का अंदाजा लगाने के लिए हम सामने वाली पहाड़ी पर जाते है उसके लिए हमें कम से कम 2-3 किलोमीटर की दौड़ लगानी होंगी और जो पहाड़ी पर पहले जायेगा वह विजेता होगा !


मेंढक की यह शर्त खरगोश ने खुशी खुशी सुविकार की और बोला मुझे यह मंजूर है 


जब यह सारी बात होने के बाद उन्होंने तय कर लिया की अब हमें जंगल की तरफ तेज़ी से भागना होगा लेकिन भागने से पहले दोनों के दिमाग़ में क्या क्या सोच थी 


खरगोश - मेंढक कितना भी दोड़ ले मुझसे आगे नहीं निकल सकता है में आसानी से उससे आगे निकल जाउगा !

मेंढक - मुझे कैसे भी करके खरगोश को हराना है 


यह दोनों के दिमाग़ में था वही से उन्होंने अपनी दोड़ को शुरू किया और भागना शुरू किया दोनों का रास्ता अलग अलग था !


मेंढक आधे रास्ते तक भी नहीं पहुंचा था तब तक खरगोश आधे से भी ज्यादा रास्ता तय कर चुका था !


खरगोश अपनी मंजिल से कुछ ही दुरी पर था उसने सोचा की में तोड़ा आराम कर लेता हूँ वैसे भी मेंढक आधे तक भी नहीं पहुंचा होगा और आराम करना शुरू किया !


आराम करना शुरू किया तो मन किया की तोड़ा नींद निकाल लेता हूँ और ऐसे में उसे गेहरी नींद लग गयी !


नींद से जब खरगोश उढ़ा तो उन्होंने फिर से दौड़ना शुरू किया और जब पहाड़ी पर देखा तो वहा से पहले ही मेंढक था !


खरगोश में मेंढक से पूछा तुम कैसे इतना जल्दी यहां आगये तब उसने बताया की तुम दौड़ में भले ही तेज़ हो लेकिन तुम्हारा लक्ष्य पर बहुत कम ध्यान था इसलिए तुम पीछे रह गए !


बच्चो इससे आपने क्या सीखा - यह (Stories With Moral For Kids ) आपको सिखाती है की जिंदगी में कोई काम बड़ा नहीं होता बस उसके लिए आपको तत्पर रहना है ! अपने अच्छी चीज़ो पर घमंड करने के बजाय अपनी बुरी आदतों को सुधार इसलिए मेने कहा की तेज दोड़ भी पीछे रह जाये जो घमंड करे वो पछताए


  2.  राह संघर्ष की है तो फिर क्यों गबराये कर उस पर प्रयास प्रयास ही तुझे विजय दिलाये !



एक बार की बात है की जब एक किसान अपनी खेती पर कड़ी मेहनत करता था और वह सबसे हट कर फसल बोता था !

उस किसान के पास ना तो इतनी ज्यादा जमीं थी की वह कुछ बड़ा कर पाए लेकिन वह यह भी जनता था की अगर कुछ बड़ा करने को नहीं है तो अपना काम ही बड़ा कर दो  !

वह जिस फसल को बोता वह नष्ट हो जाती थी और कभी अच्छी होती तो उसे वह मूल्य नहीं मिल पता था !


देखते ही देखते वह कोशिश करता गया और अपने काम से नहीं हटा !


उसे देख कर उसके मित्र आस पड़ोस के लोग उससे कहते की तू यह फसल क्यों बोता है तुझे इसमें na तो सही से भाव मिलता है ना यह सही से होती है !


तब उस किसान ने कहा की जो चीज़े ज्यादा संघर्ष करवाती है उनका परिणाम भी अच्छा होता है मेरे हर साल की फसल से मुझे मुनाफा नहीं मिलता लेकिन मुझे उम्मीद है की इस फसल से मुझे फायदा भी अच्छा होगा !


ऐसा करते करते उसे 7 साल हो गए जब 8 वे साल उसने फसल बोई तो उसे अच्छे भाव भी मिले और इतना अच्छा मुनाफा मिला जो वह 8 साल में भी नहीं कमा पता !


इसलिए जिंदगी में तक़दीर से कभी निराश मत होना और अपने काम को मत कोसना क्युकी छोटा काम तब तक छोटा है जब आप उसे छोटा मानते हो इसलिए कोई काम छोटा नहीं होता और राह संघर्ष की है तो फिर क्यों गबराये कर उस पर प्रयास - प्रयास ही तुझे विजय बनाए !


बच्चो इससे आपने क्या सीखा- इस Stories से मेने आपको 2 बाते सिखाई है पहली की अगर आप कुछ हट कर कर रहे हो और परिणाम बार बार विफल है तो उसे छोड़ो मत और दूसरी तक़दीर को कभी मत कोसो क्युकी आपकी मेहनत इसे बदल सकती है !


3. विशवास खुद पर रख तो कभी ना पछताए अगर करे किसी और पर भरोसा तो ढोकर खाये !


एक राह की बात है 1 साथी गुमने के लिए कही जा रहा था उसे रास्ते में एक व्यक्ति मिला उसे देख कर भी वह उसके साथ हो गया और बोला की जहाँ उसको जाना है वह भी वही जा रहा है यह सुन कर उसको लगा की अच्छा हुवा की मुझे कोई साथी मिल गया वरना अकेले में सफर कैसे करता !


बात यहां तक ही नहीं 2 रात होगयी और उसने उसे पूरा विशवास दिला दिया की वह एक अच्छा इंसान है और अपनी मन गड़त बाते सुनाना शुरू की 


यह बाते सुन कर वह साथी उसे अपना बहुत करीब मानने लग गया तभी उसने रास्ते में उससे कहा की तुमको पता है में कहा जा रहा हूँ उसने कहा की हम गुमने जा रहे है तब उसने हस कर कहा नहीं मेरे पास बहुत सोना है जिसे में शहर में बेचूगा जिससे मुझे अपने धंदे में माली मदद मिलेगी !


यह सोना मेने काफ़ी समय से संभाल कर रखा है यह बात सुन कर उस आदमी को रात में यह सोचा की क्यों ना यह माल लेकर में यहां से चला जाओ उसको पता भी ना चलेगा !


यह सोचने के बाद उसने अपने missoin के हिसाब से plan के मुताबिक काम करके सोना लेकर भाग गया जब दूसरा आदमी जिसका सोना था उठ कर देखा तो वह जोला उसके करीब ना था वह जोला ढूंढने के बाद उसने सोचा की उड़ आदमी से कुछ मदद ले लू !


जब वह उसके पास गया तो वहां आदमी भी नहीं था वह समझ गया की यह ही सोना लेकर भगा है 


अब वह करे भी तो क्या करे इसलिए कहते है की विशवास खुद पर रख तो कभी ना पछताए अगर करे किसी और पर भरोसा तो ढोकर खाये !


बच्चो इससे आपने क्या सीखा- यह कहानी साफ साफ बताती है की किसी भी अनजान आदमी पर भरोसा करना आपको हानि दे सकता है इसलिए अपनी गोपनीय बाते हर किसी की साथ न साझा करे वरना विशवास खुद पर रख तो कभी ना पछताए अगर करे किसी और पर भरोसा तो ढोकर खाये !



3. राहें छोटी है तो अरमान क्यों 

करे जो वो तू पाए तो इतना परेशान क्यों 

 

एक छोटी सी कहानी है एक बूढ़े बाप की 23 के लड़के की जो की हमेशा परेशान रहता था !


परेशानी का कारण था उसकी स्थिति जब भी वह अपने आप को देखता तो सोचता की काश मेरे पास अच्छा घर होता तो में उसमे ऐशो आराम की जिंदगी बसर करता ऐसे ख्याल उसके दिमाग़ में आते तो वह पहले से भी ज्यादा परेशान हो जाता था !


एक बार की बात है जब वह खेलने के लिए अपने गांव के मैदान में पहुंचा जब वहा पहुंचा तो लोगो के कपडे और उनकी गाड़िया देख कर फिर वो परेशान हो जाता तो जब वह परेशान होता उस जगह से कम समय बिता कर निकाल लड़ आजाता !


वह हमेशा अपने माँ और बाप से कहता की तुमने क्या किया लोगो के पास तो इतना पैसा है और हमारे पास एक झोपड़ी है बस उसके अलावा कुछ नहीं !


यह कह कर वह घर से निकाल गया और फिर ऐसे ही टहलने के लिए गांव से बाहर चला गया जब गांव से ज्यादातर दूर वह चला गया तो उसे पानी को प्यास लगी उसने आस पास देखा तो ऐसा कोई साधन उसको नहीं दिखा जिससे वह अपनी प्यास मिटा सके !


तो उसने सोचा की थोड़ा आगे बढ़ता हूँ जैसे कैसे वह थोड़ा आगे बड़ा तो उसे पानी तो नहीं एक पेड़ के निचे एक बूढ़ा आदमी दिखा !


उस बूढ़े आदमी से उसने पूछा की क्या मुझे पानी मिल सकता है कही आस पास तभी उस बूढ़े आदमी ने उसे पानी दिया !


पानी पिने के बाद उस बूढ़े आदमी का शुक्रिया किया तभी उस बूढ़े आदमी से उसने पूछा की आप इस भयानक जंगल में क्या कर रहा है आस पास कोई नहीं !


तब उसने कहा की यह स्थान पीर्य है इसलिए में यहां हूँ तो जब बूढ़े आदमी ने ये कहा तो वह सोचने लगा की ऐसा क्या है इस जगह पर जो इसे इतनी लोकपिर्य है !


यह सवाल उसके दिमाग़ में आया वो पूछे इसे पहले बूढ़े आदमी ने उससे पूछा की तुम परेशान लगते हो क्या बात है !


तभी वह अपनी stories सुनाने लगा जब यह बूढ़े आदमी ने सुना तो कहा बेटा मेरी उम्र 70 साल से ज्यादा है और तू 20-25 साल का लगता है 


में भी एक समय में बहुत पैसे वाला था पैसा मेरा नहीं था मेरे बाप की जागीर थी लेकिन उनके होते में उनको कोसा करता था और उनके जाने के बाद में 1-2 साल तक ऐशो आराम की जिंदगी गुजारी उसके बाद में उनके काम को संभाल नहीं पाया !


तब से मुझे पता चला की कमाने के लिए पैसे की जरूरत नहीं और चलाने के लिए भी आपको जरूरत है मेहनत की जब आप खुद मेहनत करेंगे तो आपको उसका फल जरूर मिलेगा !


एक बात और उस बूढ़े ने कही की जब तुम आए तब तुम्हें पानी की प्यास कब से लग रही थी 


उसने कहा की मुझे बहुत पहले से लग रही थी लेकिन पानी नहीं मिल पा रहा था 


तभी उस बूढ़े ने कहा की जब तुम्हें पानी की प्यास लग रही थी तो तुम्हारे मन में क्या क्या आया तुम क्या सोच रहे थे? 


जब उसने कहा तो वह बोला की मेरे मन में था की मुझे कही पानी मिल जाये 


तभी उस बूढ़े ने कहा की तुम्हें पानी की प्यास थी और तुम वही रुक जाते और तुम मर भी जाते तब भी तुमको पानी नहीं मिलता तुमने थोड़ी और कोशिश करके आगे बढ़ने का प्रयास किया और तुम्हें पानी भी मिला 


इसी तरह जिंदगी भी है जब तक तुम उसपे काम नहीं करते तब तक वह असंभव है इसलिए सोचो मत करो ताकि अपने सपनो को पूरा कर पाओ 


और अपनी गरीबी पर मायूस होने से बेहतर है की अपनी मेहनत से उस पर काम करो !


बच्चो इससे आपने क्या- आज हमने आपको इस कहानी में बताया है की आप गरीब हो या अमीर उससे कोई फर्क नहीं पड़ता लोग मेहनत से अपने नाम कमा लेते है और बिना मेहनत वाले नाम से बदनाम हो जाते है इसीलिए हमने कहा की राहें छोटी है तो अरमान क्यों 

करे जो वो तू पाए तो इतना परेशान क्यों !


4.जितना गिराए जमाना उतना ऊपर जाओ
हाय रे जमाने तेरी तेरी बातो को दिल से क्यों लगाओ 


आज की यह कहानी है एक ऐसे इंसान की जिसने अपनी जिंदगी में एक ही काम को लेकर 99 हर हुवी उसके बाद भी उसने 100 बार में अपने काम को पूरा किया आइए जानते इनमे उससे क्या क्या सहा !


क्या आप भी अपनी जिंदगी में परेशानियों से जुंझ रहे है कोशिश के बाद कोशिश लेकिन कामियाबी काम नाम नहीं तो आज यह कहानी आपके लिए है !



एक Product Base कम्पनी में काम कर रहे सुरेश की सतति काफ़ी ख़राब थी वह अपनी लाइफ में पैसे की कमी के कारण कुछ ऐसा काम ढूंढ रहा था जिससे उसे कुछ पैसा मिल जाये और वह अपनी जिंदगी को गुजार सके !


राह में भटकते सुरेश ने जब अपनी नौकरी की तलाश में भटक भटक कर परेशान होगया तब उसने सोचा की में अब गांव से बाहर जा कर कुछ काम करुँगा लेकिन अभी भी उसे समझ नहीं आरहा था की में क्या करू !


जब वह गांव से बाहर जाने के लिए रेलवे statoin पर खड़ा हुवा तो उसे पानी की पयासी लगी और जब आस पास देखा तो उसे कोई नजर नहीं आया !


जब उसने एक दुकान पर puca की मुझे पानी मिलेगा तो उसने एक बिसलरी की बोतल दी 


उसने पानी पिया और उन का शुक्रिया किया और जाने लगे तभी दुकानदार ने उन्हें बताया की भाई साहब पैसा तो उसने कहा किस चीज़ का उसने कहा बिसलरी की बोतल का मूल्य 20 रु है 


यह बात सुन कर उसको 20 रु देना पड़े लेकिन उसे यहाँ से एक ऐसी सिख मिली जिससे वह करोड़ो का कारोबार खड़ा कर सकता था 


उसने सोचा की अगर यह एक पानी की बोतल से इतना पैसा कमा सकता है तो फिर हम क्यों सच में दुनिया में काम की कमी नहीं करने वालो की कमी ही है !



Post a Comment

और नया पुराने