Atm का Full Form क्या है ?

जैसे जैसे Digital साधन बढ़ते जा रहे है वैसे वैसे नए नए नाम हमारे सामने आते जा रहे है जिनमे से एक है Atm हम समझेगे की "Atm का Full form" क्या है

Atm का Full Form क्या है ? 


यदि आपने किसी भी Bank में अपना खाता खोल रखा है तो आप इस नाम से जरूर वाकिफ होंगे दरअसल Atm का उपयोग हम अपनी life में Cash निकलने के और भी कुछ Banking के कार्य है जिनके लिए हम Atm को कार्य में लेते है लेकिन क्या हमने कभी यह गौर किया की Atm का Full Form क्या होता है आज इसी टॉपिक को हम Cover करने वाले है

Atm का Full form  -  "Automated Teller Machine" होता है आए हम आपको समजते है की इसका नाम के वर्ण के साथ -

A-Automated 

T-Teller

M-Machine 



एटीएम का Full Form  हिन्दी क्या है ? 


एटीएम का English में जो Full Form है उसे हम आपको hindi में बताते है atm वर्ण की शुरुवात English में है इसलिए इसके जो वर्ण है हम उनको आपके सामने बताएंगे !

ए -       Automated      -स्वचालित 

टी -      Teller                -टेलर 

म -       Machine          -मशीन 

Atm का Full Form है Automated Teller Machine जिसे हम हिन्दी में स्वचालित टेलर मशीन 
कह सकते है

Atm के पार्ट्स क्या है 

Atm के पार्ट्स यानि Atm में 2 तरह के उपकरण होते है जो यूजर को आसानी से इसका उपयोग करने में मदद करते है यह 2 तरह के होते है

1.Input Device


एक होता है Input Device जिसमे Card Reader, keypad शामिल है !

Card Reader - का उपयोग Atm Card के डेटा खाते की जानकारी Read करता है Atm खाते में जो पीछे की तरफ होता है जिसमे Verification और User Service जैसी सुविधाएं शामिल होती है  !

keypad -Keypad तो आप सभी लोग जानते ही होंगे pin का विवरण और Cancel' clear' enter,  आदि को इनपुट करने की अनुमति देता है

2.output Device


दूसरा है output Device जिसमे आपको speaker screen  cash despenser  receipt printer
आदि जैसे सर्विस शामिल है आइये ये पार्ट्स काम कैसे करते है !

Screen -इसका उपयोग खाता संबंधित जानकारी खाता धारक का नाक आदि जिसे आपको दिखाता है

Cash Despenser - बहुत सारे Atm में महत्वपूर्ण  Output Devices में से यह एक है

Recipt Printer- आपने atm का इस्तेमाल किया है तो एक Recipt का बटन हर एटीएम में होता है जिसे आपको एक रसीद प्रदान होती है जिसमे खाते में कितना balance है और कब तक कितना था आदि महत्वपूर्ण जानकारी मिलती है  !

Speaker- बहुत सारे Atm में speaker उपलब्ध होता है जब आप अपने खाते में पैसा जमा करते है या निकालते है और आदि महत्वपूर्ण कार्य करते है तो यह आपको Feedback देता है Audio के माध्यम से

Atm क्या है 

Atm बैंकिंग से जुडा एक ऐसा कार्ड है जिसे आप लेनदेन में इस्तेमाल कर सकते है में आपको हिन्दी मात्र भाषा में इसे समजता हूँ 

जब हम अपना खाता खोलते है तो हमें अपने खाते की Passbook दी जाती है और अगर फिर हम Atm apply करते है तो Bank की तरफ से हमें Atm मिल जाता है दिए हुवे दिनांक तक. 

जब हमें Atm मिल जाता है तो हमें उसमे 3 गोपनीय जानकारी होती है जिसको हमें किसी के साथ साझा नही करना चाहिए जैसे 4 digit pin,  Card Number और last 3 cin नंबर और हमारे खाते की validity यह हमें गोपनीय रखनी चाहिये !


Atm का उपयोग कहा कहा कर सकते है 


यू तो हम Atm का उपयोग अदिकांश जगह पर कर सकते है लेकिन 2 महत्वपूर्ण point में में आपको समजाउंगा जिसमे एक Online है और एक Offline है 

Online में उपयोग - Atm Card में दी गयी 4 गोपनीय जानकारी और एक Mobile पर Oto से हम आपने Atn खाते से किसी को भी राशि भेज सकते है और कही भी भुगतान कर सकते है 

Offline में उपयोग - Atm card से हम किसी भी Offline seter पर जाकर पैसा निकाल सकते है और बैंक से संबंधित विवरण प्राप्त कर सकते है 


ATM से जुडी कुछ महत्वपूर्ण जानकारी से रोचक तथ्य -


Atm का अविष्कार जॉन शेफर्ड बैरोंन ने 1987 में किया था जो की Hsbc दुवारा स्थापित था बहुत से देश में बिना खाते के भी Atm का उपयोग किया जाता है जिसमे से एक है romania जहाँ बिना खाते के atm का उपयोग किया जाता है !

दुनिया का पहला Atm 27 जून 1967 में भारतीय स्टेट बैंक केरल में बना था !




आज आपने क्या समजा की Atm का Full Form क्या होता है इसमें Hindimes.com ने अपने विचार share किये अगर आपको Post अच्छा लगा हो तो इसे फेसबुक पर शेयर करे ताकि हमें Spport मिल सके 

धन्यवाद !
टिप्पणी पोस्ट करें (0)
नया पेज पुराने